म्यूच्यूअल फण्ड

म्यूचुअल फंड क्या सही है और इसमें कैसे करें निवेश ?

What is Mutual Fund in Hindi
Written by Hindi FAQ Team

म्यूचुअल फंड क्या है इसमें कैसे निवेश करते हैं (What is Mutual Fund in Hindi and how to invest in it).

म्यूचुअल फंड के बारे में पहले बहुत ही कम लोग जानते थे और आज भी ऐसे लोग है जो अभी भी नही जानते की म्यूचुअल फंड क्या होता है और म्यूचुअल फंड में कैसे कर सकते हैं निवेश?

जो अभी तक म्यूचुअल फंड के बारे में नहीं जानते उनके लिए ये अभी भी कुछ नही है। लेकिन जो जानते है वो अपना मुनाफा कमा रहे है और म्यूचुअल फंड में निवेश कर रहे है।

परंतु जो इसके बारे में नही जानते उनको ज्यादा सोचने की जरूरत नही है कि Mutual Fund क्या है क्योंकि हमने इस Mutual Fund Sahi Hai के लेख में आपको पूरी जानकारी दी है कि Mutual Fund क्या होता है और म्यूचुअल फंड में कैसे निवेश करते है.

अब आप भी इसमें निवेश करके अपने पैसे लगाकर मुनाफा कमा सकते है। जब आपको इसके बारे में पता चल जाएगा तो आप भी म्यूचुअल फंड में इन्वेस्ट कर सकते है.

बहुत से लोग शेयर बाजार (Share Market) और म्यूचुअल फंड को एक ही मानते है पर ऐसा नही है। यह दोनों ही अलग है।

अब मैं आपको शेयर बाजार और म्यूचुअल फंड के बीच का अंतर बताएँगे..

What is the Difference Between Mutual Fund and Share Market in Hindi

अगर आप शेयर मार्केट में निवेश करते हैं तो “Risk” बहुत होता है। शेयर बाजार में पैसे लगाने से ज्यादा मुनाफा होता है लेकिन ज्यादा जोखिम भी है।

जो पैसे आप शेयर बाजार के अंदर लगाते है तो उसका मुनाफा डबल होता है लेकिन पैसा डूबता भी है। यानि की शेयर मार्केट में रिस्क (risk) बहुत होता है.

वहीं दूसरी और अगर आप म्यूचुअल फंड में निवेश करते है तो आपका पैसा professional fund manager लगाता है.

Professional fund manager द्वारा आपका पैसा म्यूचुअल फंड में लगाया जाता है।

What is Mutual Fund in Hindi

म्यूचुअल फंड में आपका पैसा पूरी तरह सुरक्षित रहता है क्योंकि जो investment आप म्यूचुअल फंड में करते है उसके देखरेख और पैसे को डबल करना म्यूचुअल फंड मैनेजर का काम होता है।

ऐसा क्यों?

क्योंकि वो आपकी इन्वेस्टमेंट सही जगह लगाकर पैसे को डबल करता है जिससे की आपके म्यूचुअल फंड में इन्वेस्ट करने से पैसे डबल और सेफ रहता है.


How to invest in Mutual Fund in Hindi


म्यूचुअल फंड में निवेश कैसे करें?

म्यूचुअल फंड में ऑनलाइन निवेश कैसे करें उसके लिए कम से कम राशि 500 रुपए होनी चाहिए.

अगर आप कोई व्यापार, सैलरी को Mutual fund me invest करके मुनाफा कर सकते है। इसकी शुरुआत आप 500 रुपए से ही कर सकते है।

कुछ लोग सोचते है की म्यूचुअल फंड में इन्वेस्टमेंट सिर्फ वही कर सकते है जिनके पास पैसा है पर ऐसा नही है।

हर कोई इसमें निवेश कर सकता है सिर्फ 500 INR प्रति महिना से निवेश कर सकते है.

इसमें निवेश करने से आपके पैसे पूरी तरह सुरक्षित रहेंगे और यह भरोसेमंद भी है इसलिए आज लोग इसमे कम पैसों से ही अपनी investment कर रहे है तो आप भी इसमें निवेश करके अपने पैसों को सुरक्षित करें.

जब आप इसमें पैसे निवेश करेंगे तो प्रोफेशनल फंड मैनेजर आपके पैसों को निवेश करेगा और इस धन राशि को मुनाफे में बदलेगा।

इसके बाद जो भी मुनाफा होगा उसमें से वह अपना हिस्सा निकाल कर जिसने भी इसमें निवेश किया है निवेशकों को उनका पैसा दे देगा। तो हुआ न म्यूचुअल फंड सही है।

तो आज ही mutual fund sahi hai में निवेश करें। अगर आप इसमें निवेश कर चुके है तो अपना अनुभव हमारे साथ कमेंट में शेयर करें.


 Benefits of Mutual Fund in Hindi


ऊपर मैंने आपको What is Mutual Fund in Hindi से जुड़ी जानकारी अपडेट करी है। अब मैं आपको म्यूचुअल फंड के फायदे बताऊंगा.

  1. म्यूचुअल फंड में आपके पैसे जो प्रोफेशनल फंड मैनेजर आपके पैसे को निवेश करते है जो आपके धन राशि को कही पर भी लगाने से पहले पूरी जानकारी कर लेते है। जानकारी लेने के बाद अगर आपके पैसे में मुनाफा बढ़ोत्तरी होती है तो ये आपके पैसे लगाकर उसका मुनाफा करते है.
  2. म्यूचुअल फंड का दूसरा फायदा है की आप अपने पैसे एक जगह न लगाकर अलग – अलग जगह लगाए। Mutual Fund Sahi Hai आपके पैसे को एक जगह न लगाकर बहुत जगह लगता है जिससे की आपके पैसों में बढ़ोत्तरी हो.
  3. म्यूचुअल फंड का तीसरा फायदा : अगर आप म्यूचुअल फंड में इन्वेस्ट करना चाहते है तो Mutual Fund कोई न कोई फंड आपके लिए जरूर होगा जो की आपकी जरूरत के हिसाब से होगा.
  4. म्यूचुअल फंड में निवेश करने का फायदा है कि इसमें निवेश करने का बहुत ही आसान तरीका है। इसमें निवेश करने के लिए आपको एक फॉर्म भरना होता है जो की आप ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों तरीके से भर सकते है.
  5. Mutual Fund में आप कम से कम पैसे से investment कर सकते है। बहुत से कंपनियों में ज्यादा पैसे न होने की वजह से investment नही कर पाते पर म्यूचुअल फंड में आप कम से कम राशि 500 रुपए से निवेश कर सकते है।

इसलिए म्यूचुअल फंड में निवेश करने से आपके पैसे डबल और सुरक्षित रहते है। इसमें निवेश करने से आप अमीर भी बन सकते है। अब हर कोई म्यूचुअल फंड में निवेश करके फायदा उठा रहा है.


 What is the History of Mutual Fund in Hindi


म्यूचुअल फंड का इतिहास क्या है और इसकी शुरुआत कैसे हुई?

भारत में म्यूचुअल फंड की शुरुआत 1963 में (UTI) यूनिट ट्रस्ट ऑफ इंडिया की स्थापना के साथ म्यूचुअल फंड की शुरुआत हुई।

ट्रस्ट ऑफ इंडिया (UTI) की स्थापना रिजर्व ऑफ इंडिया के द्वारा की गयी थी “UNIT SCHEME” के नाम से ट्रस्ट की पहली स्कीम 1964 में शुरू की गयी थी। इसका उद्देश्य छोटे – छोटे निवेशकों को इन्वेस्टमेंट के लिए आकर्षित करना था.

  • भारत में म्यूचुअल फंड के चार चरण है।
पहला चरण1964 – 87
दूसरा चरण1987 – 93
तीसरा चरण1993 – 2003
चौथा चरणफरवरी 2003 के बाद

म्यूचुअल फंड के शुरुआत में भारत के कम निवेशक होने के कारण म्यूचुअल फंड स्कीम (Mutual Fund Scheme) के बारे में लोगो को जागरूक करना था।

जब धीरे – धीरे लोगों को म्यूचुअल फंड के बारे में पता चला तो लोगों ने इसमें रुचि दिखानी शुरू की निवेश करके म्यूचुअल फंड के प्रति अपना भरोसा दिखाया.

  • अब हम आपको म्यूचुअल फंड के प्रकार बताएंगे…

म्यूचुअल फंड कितने प्रकार के होते है, किसमें निवेश करने से आपको लाभ होगा। तो देखते है म्यूचुअल फंड कितने प्रकार के होते है।


Types of Mutual Funds in Hindi PDF


म्यूचुअल फंड चार प्रकार के होते है-

  1. Equity mutual fund
  2. Debt mutual fund
  3. Hybrid mutual fund
  4. Balance mutual fund

Equity Mutual Fund Kya Hai ?

इन सब fund में से सबसे ज्यादा निवेश करने वाला fund ‘equity fund’ है। इस फंड के माध्यम से सबसे ज्यादा लाभ होता है.

Equity fund उन कंपनियों की सबसे ज्यादा भागीदारी खरीदता है जिनका ज्यादा प्रॉफिट होता है इसी से सबसे ज्यादा पैसे रिटर्न होने का मौका होता है।

हाँ, इसमें जोखिम भी बहुत होता है पर रिटर्न ओर प्रॉफिट भी इसके माध्यम से मिलता है और सबसे ज्यादा लोकप्रिय भी यही फंड है.

  • इक्विटी म्यूचुअल फंड क्या है ?

इक्विटी फंड जो होते है वो इक्विटी शेयर में निवेश किये जाते है और वो हाइली रिस्क वाले होते है। मतलब की इसमें जोखिम ज्यादा होता है। लेकिन मैं आपको बता दूँ की जिसमे रिस्क ज्यादा होता है उसमे प्रॉफिट भी ज्यादा होता है.

तो बिना रिस्क लिए तो कुछ भी नही मिलता है। आप सब जानते ही है कि कुछ पाने के लिए कुछ खोना पड़ता है तो इक्विटी फंड्स में आपको रिस्क तो ज्यादा होता है.

तो आप एक बार देख ले की आपको थोड़ा बहुत रिस्क चाहिए या नही? अगर आप थोड़ा बहुत रिस्क ले सकते है तो इक्विटी फंड में जाये अन्यथा आप नीचे दिए गये बाकि फण्ड पर भी इन्वेस्ट कर सकते है.

Debt Mutual Fund Kya Hai ?

डेब्ट फंड में हम उन कंपनियों की भागीदारी खरीदते है जैसे हमने इक्विटी फंड में कंपनियों की भागीदारी खरीदते है लेकिन इसमे हम उनकी security खरीदते हैं.

डेट म्यूचुअल फंड मुख्य रूप से डेट या फिक्स्ड इनकम सिक्योरिटी जैसे ट्रेजरी बिल्स, सरकारी सिक्योरिटी, कॉरपोरेट बॉन्ड और अलग-अलग समय क्षितिज के अन्य डेट सिक्योरिटीज में निवेश करते हैं। आम तौर पर, ऋण प्रतिभूतियों में एक निश्चित परिपक्वता तिथि होती है और एक निश्चित ब्याज दर का भुगतान करना होता है।

Hybrid Mutual Fund Kya Hai ?

हाइब्रिड फंड क्या होता है?

हाइब्रिड फंड के भी प्रकार होते है। इस फंड में आपको रिस्क कम मिलेगा पर जहां रिस्क कम होता है वहाँ रिटर्न भी कम ही मिलेगा.

अगर आप अपना पैसा ज्यादा टाइम के लिए म्यूचुअल फंड में डालना चाहते हो तो हाइब्रिड फंड सबसे बेहतर है.

आपका सारा पैसा हाइब्रिड फंड में सारा पैसा स्टॉक मार्केट में निवेश नही हो रहा है। कुछ पैसा आपका स्टॉक मार्केट में और कुछ पैसा Debt में निवेश हो रहा है तो इसलिए हाइब्रिड फंड ज्यादा सुरक्षित हैं.

What is Balance Mutual Fund in Hindi

बैलेंस म्यूचुअल फंड में निवेशक निवेश करके Equity and Debt Fund दोनों में निवेश करते है और कंपनियाँ बाजार के उतार चढ़ाव को देख कर पैसे को निवेश करती है जिस से की पैसे का मुनाफा ज्यादा हो।

अब आपको समझ आ गया होगा की म्यूचुअल फंड क्या है इसके क्या फायदे है तो आप भी अपना पैसा म्यूचुअल फंड में इन्वेस्ट करके अच्छे रिटर्न पा सकते है.

जैसे की हमने आपको पहले बताया है कि अब हर कोई इसमें कम से कम में निवेश कर सकता है सिर्फ 500 रुपए से शुरुआत करके।

पहले लोगों की धारणा म्यूचुअल फंड के प्रति अलग थी। लोग इसके बारे में बहुत कम जानते थे पर अब सब अपना पैसा म्यूचुअल फंड में निवेश करके बहुत पैसे भी कमा रहे है.

म्यूचुअल फंड की तरफ से लोगों के लिए safe response मिलने पर लोग खुश है। म्यूचुअल फंड भरोसेमंद भी है.

म्यूचुअल फंड के किसे भी फंड में (इक्विटी फंड, डेब्ट फंड, हाइब्रिड फंड, गोल्ड फंड) इन सब फंड के बारे में  करके आप अपना पैसा सही जगह निवेश करके अच्छा रिटर्न प्राप्त कर सकते हैं.

आप चाहे व्यापार करते हो, या कोई शॉप हो, या माता – पिता को बच्चों की शादी के लिए पैसे जमा करने हो तो आप बैंक में जाते है।

तो अब आप म्यूचुअल फंड में निवेश करके पैसे को डबल करते है तो प्रोफेशनल फंड मैनेजर आपके पैसे फंड में जमा करके पैसे को कहा ओर कैसे निवेश करके पैसे को डबल करना है तो वो अपने एक्स्पर्ट्स टीम से बात करके पैसे को निवेश करते है इसलिए है न म्यूचुअल फंड भरोसेमंद।

तो किसी ने सही ही कहा है कि mutual fund sahi hai…


म्यूचुअल फंड में SIP क्या है और एसआईपी कैसे शुरू करें?

म्यूचुअल फंड में SIP सिस्टमेटिक इन्वेस्टमेंट प्लान को कहते है। यह sip का पूरा नाम है.

अगर आप systematic investment plan के द्वारा म्यूचुअल फंड में निवेश करते है तो इस माध्यम से आपके रिटर्न होने के बहुत अच्छे मौके होते है।

इसमें आप 500 रुपये से निवेश शुरू कर सकते है।

सिप (सिस्टमेटिक इन्वेस्टमेंट प्लान) को आप तीन प्रकार से शुरुआत कर सकते हो।

सबसे अच्छा तरीका म्यूचुअल फंड कंपनी हैं

आप म्यूचुअल फंड में इन्वेस्ट करने के लिए ऑनलाइन जा सकते है। ऑनलाइन ही म्यूचुअल फंड में निवेश कर सकते हो, यह सबसे आसान और सरल तरीका होता है.

म्यूचुअल फंड में ऑनलाइन अपने पैसे को निवेश करने से आपको अच्छा रिटर्न मिलेगा।

म्यूचुअल फंड में (NAV)
Nav को (net asset value) कहते है। म्यूचुअल फंड में NAV क्या है ?

जब आप म्यूचुअल फंड में पैसे निवेश करते हो तो NAV को बार बार प्रयोग में लाया जाता है।

म्यूचुअल फंड पैसे को बहुत जगह निवेश करता है। इसमें अगर आपको फंड में से पैसे वापस लेने है तो ये उसकी nav पर निर्भर करता है.

म्यूचुअल फंड में AMU क्या है ?
म्यूचुअल फंड में निवेश किया हुआ पूरा धन, उस पूरे धन को एसेट अंडर मैनेजमेंट यानी कि एएमयू कहते है।

AMU निवेशकों के द्वारा निकालने के हिसाब से घटता – बढ़ता रहता है.

इसे भी पढ़े: डिजिटल मार्केटिंग क्या है ? यह कैसे काम करता है?


म्यूचुअल फंड में ऑनलाइन निवेश कैसे करें?

आप 500 या 1 हजार रुपया महीने से आप शुरुआत कर सकते है और जिनको ज्यादा जानकारी नही है वह कंपनी का Prospectus को अच्छे से पढ़ ले ध्यान पूर्वक।

आप अपनी कंपनी से पूछ सकते है कि जिस भी फण्ड में आप इन्वेस्टमेंट कर रहे है उस फण्ड का GOAL क्या है?

यानि की उस फण्ड में long term investment करना अच्छा रहेगा या फिर वो fund short term investment के लिए बना है.

तो आप ये सब जानकारी अपनी कंपनी से इन्वेस्टमेंट करने से पहले ले सकते है और जो जानकारी आपको लेनी है वो ले लीजिये.

जैसे की आपको पता करना है कि इस फण्ड में जिसमें आप निवेश करने वाले है। उसमे risk factor कितना है और किसी भी फण्ड में निवेश करने से पहले आप उस फण्ड की हिस्ट्री भी चेक कर सकते है.

आप उसका पिछला ट्रैक रिकॉर्ड चेक कर सकते हो क्योंकि उस से हमको यह पता लगेगा की पास्ट में इस फण्ड में कितनी ग्रोथ हुई है और जिन्होंने इन्वेस्टमेंट कर रखी थी उन्हें कितने पर्सेन्ट तक मिल रखे है और हमारे फण्ड को कौन manage कर रहा है.

मतलब की इस फण्ड का जिस फण्ड का जिसमे हम निवेश करने वाले है उसका फंड मैनेजर कौन है। उसकी क्या क्वालिफिकेशन है और उसको कितना एक्सपीरियंस है.

यह सब चीजे भी आप सबको देखनी होंगी। उसी हिसाब से आप रिस्क ले सकते है.

जब आपको पता होगा की आपका जो फंड मैनेजर है वो क्वालिफाइड है और उसको काफी एक्सपीरियंस है और उसने और भी म्यूच्यूअल फंड्स चलाए है.

यहाँ पर आपको पता चल सकता है की यहाँ पर हमारा फंड मैनेजर अच्छा है तो हम उसमें निवेश कर सकते है.

निवेश करने से पहले हमको यह भी पता करना है की क्या निवेश करने से पहले हमसे कोई फीस या expenses लिए जाएंगे जोकि खरीदने या फिर बेचने पर लगता है.

तो कितने लगते है कितने परसेंट फीस या expenses है और इन्वेस्टमेंट पर रिटर्न्स होंगे उसपर टेक्स कितना लगेगा अगर लगेगा तो कैसे लगेगा। इन सब बातों का भी आपको खास ख्याल रखना होगा.


How to withdraw money from Mutual Fund in India

म्यूचुअल फंड से पैसे कैसे निकाले ?

म्यूचुअल फंड में निवेश करने के बाद आपको पैसे निकालने है तो कैसे निकाले?

इसे आप ऑनलाइन भी पैसे निकाल सकते है।

इसके लिए आपको म्यूचुअल फंड की वेबसाइट पर जाकर ट्रांजैक्शन स्लिप को डाऊनलोड करके, उसे पूरा भर के म्यूचुअल फंड की कंपनी के यहां जाकर जमा कर दीजिए और पैसे निकालने के लिए म्यूचुअल फंड पर डायरेक्ट म्यूचुअल फंड की वेबसाइट पर जा सकते है।

Conclusion

इसका निष्कर्ष है कि म्यूचुअल फंड में आपको निवेश करने में कोई भी परेशानी नही होगी। इसे आप ऑनलाइन भी कर सकते है.

म्यूचुअल फंड अब लोगों के लिए उनकी खुशियों की चाबी बन चुका है। इसके द्वारा आपके पैसे रिटर्न मिलते है, मुनाफे के साथ, सुरक्षित भी रहते है।

खास बात यह है कि इसमें हर कोई निवेश कर सकता है सिर्फ 500 रुपये से शुरुआत करके आप भी म्यूचुअल फंड में निवेश कीजिए.

इसमें आप जिनके पास पैसा है वो भी निवेश कर सकते है ओर जिनके पास कम धन राशि है वो सिर्फ 500 रुपये से शुरुआत कर सकते है और आगे चलकर आपके 500 रुपये की निवेश बड़ी मात्रा में होगी.

इस लेख में म्यूचुअल फंड क्या है (What is Mutual Fund in Hindi) की पूरी जानकारी संक्षेप में दी है.

इसे पढ़ने के बाद आप म्यूचुअल फंड को समझ गए होंगे तो आप म्यूचुअल फंड में निवेश करके अपने पैसे का रिटर्न पाये। आप भी अपने पैसों
को निवेश करें।

अगर आपको mutual fund sahi hai in hindi से संबंधित कुछ भी पूछना हो तो अप कमेंट के मध्यम से अपना प्रश्न पूछ सकते हैं.

What is Mutual Fund
म्यूचुअल फंड क्या सही है और इसमें कैसे करें निवेश ?

A mutual fund is a professionally managed investment fund that pools money from many investors to purchase securities. These investors may be retail or institutional in nature. Mutual funds have advantages and disadvantages compared to direct investing in individual securities.

Editor's Rating:
5
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

About the author

Hindi FAQ Team

Hindi FAQ में आप सभी का हार्दिक स्वागत है| यह एक हिंदी टेक ब्लॉग है जहाँ पर आपको टेक के बारे में बताया जाएगा| अगर आपको किसी भी विषय के बारे में जानना है तो आप कमेंट के माध्यम से अपना प्रशन पूछ सकते हो|

Leave a Comment