Bank and Insurance

NEFT क्या है ? अगर नहीं पता तो इसे पढ़े

NEFT in Hindi
Written by Hindi FAQ Team

आप भी सोचने लग गए की यह कौन सा विषय है जिसका नाम एनईएफटी क्या है (What is NEFT in Hindi) है.

जिसको NEFT के बारे में पता है वो तो इसके बारे में जानता है पर जिसको नहीं पता उनको हम एनईएफटी के बारे में बताएँगे इसलिए तो हमने इस लेख को लिखा है.

तो अगर आप नहीं जानते है की NEFT क्या है यह कैसे कम करता है इसके क्या फायदे है तो इसके बारे में हम बताते है.

इस लेख में हम एनईएफटी का फुल फॉर्म (नेफ्ट फुल फॉर्म), एनईएफटी की शुरुआत कब हुई, एनईएफटी क्या है, एनईएफटी भुगतान क्या है, एनईएफटी और आरटीजीएस क्या है इत्यादि के विषय में चर्चा करेंगे.

प्रत्येक व्यक्ति बैंक से जुड़ा है तो जब हम money transfer करते है तो नेफ्ट का इस्तेमाल करते है। आज की भाग – दौड़ भरी इस जीवन में किसी के पास टाइम नहीं है और जब से लोग इंटरनेट का इस्तेमाल करने लगे है तब से हर व्यक्ति अपना काम इंटरनेट से ही कर देता है.

चाहे फिर वो बिजली का बिल जमा करना हो, या किसी को payment करना हो, किसी रेस्टोरेंट का बिल पे करना हो , मोबाइल रिचार्ज करना हो, ट्रेन टिकट बुक करनी हो या पैसे ट्रांसफर करना इत्यादि।

कुछ भी हो सब कुछ अब घर बैठे ही ऑनलाइन हो जाता है।

वैसे ही नेफ्ट के द्वारा ऑनलाइन पैसे ट्रांसफर करते है और जब पैसे ऑनलाइन ट्रांसफर हो जाते हो तब कोई लंबी लंबी लाइन में खड़ा होता है तो चलिये जानते है कि NEFT Kya Hai और इसका इस्तेमाल कैसे करते है.

NEFT क्या है (What is NEFT in Hindi)

नेफ्ट एक ऐसा माध्यम है इसके द्वारा एक बैंक से दूसरे बैंक में पैसों को ट्रांसफर किया जाता है। इस सुविधा से पैसों को ट्रांसफर किया जाता है और NEFT की शुरुआत नवंबर 2005 में हुई।

NEFT का भार संभालने वाली कंपनी है। Institute for development and research in banking technology को सौंपा गया। यह रिजर्व बैंक के अंतर्गत काम करता है.

Neft से पैसे ट्रांसफर करने के लिए नेफ्ट प्रणाली के जरिये Fund transfer वास्तविक समय के आधार पर नहीं होते है.

नेफ्ट सप्ताह के पहले, तीसरे और पांचवे शनिवार को सुबह 8:00 बजे से लेकर शाम 7:00 बजे तक के दौरान होने वाले 23 स्टेटमेंट के साथ आधे घंटे के बीच में पैसों का हस्तांतरण तय किया जाता है।

इसके अलावा महीने के दूसरे और चौथे शनिवार को सार्वजनिक छुट्टियों के दिन कोई स्टेटमेंट नहीं होती है.


How To Transfer Money Through NEFT in Net Banking


  • NEFT से कैसे करें पैसे ट्रांसफर ?

नेफ्ट से पैसे ट्रांसफर करने के दो तरीके है एक तो आप इसे ऑनलाइन कर सकते है और दूसरा ऑफलाइन भी कर सकते है.

ऑनलाइन पैसे ट्रांसफर करने पर आपको इंटरनेट की आवश्यकता पड़ेगी और ऑफलाइन करने के लिए आप बैंक में जाकर फॉर्म फिल करके अपने पैसे दूसरे खाता धारक के पास भेज सकते है या घर बैठे ही ऑनलाइन कर सकते है.


Online Money Transfer करने के फायदा क्या है?


इसमें आपको न तो बैंक जाने की आवश्यकता है और न ही आपको किसी लाइन में लगने की आवश्यकता है इसलिए अब ज्यादातर लोग इसे ऑनलाइन करना ज्यादा पसंद कर रहे है।

जब आप इसका प्रयोग ऑनलाइन करते है तो आपको इसका कोई चार्ज नहीं देना होगा। यह नवंबर 2017 में लागू किया गया.

NEFT के अलावा दो और तरीकों से पैसे ट्रांसफर किए जाते है।

वैसे तो आप किसी से भी MONEY TRANSFER कर सकते है पर नेफ्ट से पैसे ट्रांसफर करने का तरीका सबसे अच्छा तरीका माना जाता है.

  • यहां दो तरीके है एक तो है ‘RTGS’ और दूसरा ‘IMPS’ यह दो तरीके है और तीसरा तरीका ‘NEFT’ है

लेकिन इसे आप ऑफलाइन करते है यानि बैंक में जाकर money transfer करते है तो इसका चार्ज लगेगा जैसे की 10000 रुपए के लिए 2.50 रुपए + जीएसटी भी लगेगी।

देखिए इसके लिए एक लिमिट यह है कि अगर आप ऑनलाइन जाकर के पैसा ट्रांसफर करते है तो इसकी लिमिट 25 लाख तक है। लेकिन अगर आप पैसे ऑफलाइन यानी बैंक से ट्रांसफर करते है तो इसके लिए कोई लिमिट नहीं है.


Internet Banking से ऑनलाइन पैसा कैसे ट्रांसफर करें ?


अब ऑनलाइन पैसे ट्रांसफर करने का क्या तरीका है इसे भी जानते है और Offline पैसे कैसे ट्रांसफर करते है यह भी आगे बताएँगे.

ऑनलाइन पैसे ट्रांसफर करने के लिए आपको इंटरनेट की आवश्यकता पड़ेगी। अगर आपके पास इसकी सुविधा नहीं है तो बैंक जाकर आवेदन कर सकते है ऑनलाइन पैसे ट्रांसफर करने के लिए.

Net Banking Activate करने के बाद आपको नीचे दी गई जानकारी को फॉलो करना है।

  1. आपका खाता जिस किसी भी बैंक में है आपको उस बैंक की वेबसाइट पर जाना होगा।
  2. इसके बाद अब आपको किस खाता धारक को पैसे भेजने है उसका अकाउंट एड करना होगा।
  3. अकाउंट एड करने के बाद आपको कुछ समय के लिए इंतजार करना होगा और इसके लिए आपको कुछ डीटेल की आवश्यकता पड़ेगी जैसे की Name, Account number, IFSC code, Bank name, Branch name इन सबकी आवश्यकता आपको पड़ेगी।
  4. नया अकाउंट एड करने के बाद जब आपका account approve हो जाएगा तब आपको इसके बाद money transfer पर जाना होगा।
  5. फंड ट्रांसफर को आप सेलेक्ट कर लेंगे तो इसके बाद आपको pay पर क्लिक करना है।
  6. पैसे ट्रांसफर करने के लिए आपको तीन तरीके मिलेंगे जैसे RTGS, IMPS और NEFT. यह तीन ऑप्शन आपको दिये जाएंगे। इनमें से आपको नेफ्ट को चुनना होगा।
  7. लास्ट स्टेप है दिये गए ऑप्शन में जितना भी amount आपको डालना है उसमे एड कर दे और पे पर क्लिक कर दे।
  8. इसके बाद आपके पैसे उसके खाते में transfer हो जाएंगे जिसमे आपने डाला था।
  9. अधिक जानकारी के लिए आप यूनियन बैंक नेट बैंकिंग कैसे चालू करें का लेख पढ़ सकते हो।
  10. यह तरीका था ऑनलाइन पैसे ट्रांसफर करने का, अब हम आगे देखेंगे कि ऑनलाइन पैसे कैसे ट्रान्सफर करते है।

Offline Paise Kaise Transfer Kare


ऑनलाइन करने का तरीका आपने सीख ही लिया होगा तो अब आपको बताते है कि ऑफलाइन पैसे कैसे ट्रांसफर करते है। तो चलिये देखते है.

सबसे पहले आपको Offline Paise Transfer करने के लिए आपको अपनी शाखा यानि बैंक जाना होगा। वही से आपके पैसे ऑफलाइन ट्रांसफर होंगे। तो यह है ऑफलाइन पैसे ट्रांसफर करने का तरीका है.

जैसे की पहले ऑनलाइन में जिन जानकारी की आवश्यकता आपको पड़ी थी उन्ही डीटेल की आवश्यकता आपको इसमें पड़ेगी जैसे कि Account number, Bank name, Branch, IFSC code इन जानकारी की आवश्यकता आपको paise send करने में पड़ेगी.

आपको जितनी भी धन राशि भेजनी है उस धन राशि को बताए। इसके बाद जीतने भी पैसे आपको सेंड करने है उसे बता दे की मेरे खाते में से आपको इतने पैसे दूसरे खाता धारक के खाते में डालने है।

इसके बाद जब सारी जानकारी आप फॉर्म में भर देते हो तो इस फॉर्म को आप बैंक में जाकर जमा कर देना और बैंक आगे की process करके आपके पैसे दूसरे खाता धारक के खाते में धन राशि डाल देगा।

तो यह सारा process होगा ऑफलाइन और ऑनलाइन में। अब आपको समझ में आ गया होगा कि यह कैसे काम करता है।


NEFT में कितनी टाइमिंग है?


इन सबके बाद आपको यह पता होना चाहिए कि इसे कब ट्रांसफर किया जाता है और कितने टाइम से कितने टाइम तक।

इसमें पैसे के transaction के लिए 12 बैच बनते है जोकि ये सुबह 7 बजे से 8 बजे तक है और शनिवार के दिन का टाइम सुबह 8 बजे से 6 बजे तक होता है और साथ ही त्योहार पर कोई भी फंड ट्रांसफर नहीं किया जाता है.


Neft charge कितना है?

अब आपको ये पता होना चाहिए की कितनी धन राशि पर कितना चार्ज लगेगा।

जब भी आप money transfer करेंगे तो जितनी भी धन राशि है उसका चार्ज पता होना चाहिए और इसका चार्ज उस व्यक्ति को भरना होता है जोकि पैसे ट्रांसफर (भेजता) है तो चलिए देखते है कितनी धन राशि पर कितना चार्ज है..

10,000 के लिए चार्ज :2.50 + GST
10,000 से लेकर 1 लाख तक का चार्ज :5 + GST
1 लाख रुपये से 2 लाख रुपये तक का चार्ज :15 + GST
2 लाख से 5 लाख रुपये तक का चार्ज :25 + GST
5 लाख से 10 लाख रुपये तक का चार्ज :25 + GST
  • Note – जो भी चार्ज आपको बताए गए है ये सब चार्ज बदलते रहते है इसलिए आपको जिस ब्रांच से पैसे ट्रांसफर करने है पहले वहां पर चार्ज के बारे मे पूछ ले।

NEFT के लाभ के बारे में जानते हैं

इतनी सारी जानकारी के बाद आपको इसके फायदे भी पता होने चाहिए। इन लाभों के बारे में हम आपको बताते है.

  1. NEFT एक बहुत ही आसान तरीका है पैसे ट्रांसफर करने का। इसके ट्रांसफर करने के लिए ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों ही सुविधा दी गयी है जोकि आपके पैसों को कम समय में भेजता है और आपके दोस्तों और रिश्तेदारों के पास भेजता है।

  2. ऑनलाइन पैसे ट्रांसफर करने में न तो आपको परेशानी होती है बल्कि आसानी से आपके पैसे ट्रांसफर हो जाते है। यह एक बहुत अच्छा माध्यम है जो अपने पैसों को दूसरे व्यक्ति के पास भेजने है। इसलिए नेफ्ट एक आसान तरीका है।

  3. अगर हम इसके ट्रांजेक्शन की कहे तो यह बहुत ही आसानी और तेज मनी ट्रांसफर करता है इसलिए लोग ज्यादातर नेफ्ट का प्रयोग करके अपने काम को आसानी से करते है।

  4. इंटरनेट मे नेफ्ट का प्रयोग बहुत ही किया जाता है जिसकी वजह से ये प्रचलित भी खूब है और भारत में सभी बैंक आरबीआई द्वारा संचालित भी करते है जिसकी वजह से ये सुरक्षित भी है और इससे पैसे लेना और देना दोनों ही आसान है।

Neft से क्या नुकसान है?

वैसे तो नेफ्ट के द्वारा होने वाले काफी फायदे है पर इसमें कुछ नुकसान भी है।

नुकसान उन लोगों के लिए है जो इसके बारे में कुछ भी नहीं जानते है या जो व्यक्ति इंटरनेट इस्तेमाल नहीं करते है।

जो व्यक्ति इंटरनेट का इस्तेमाल नही करते है तो वो इसके बारे में कैसे जानेंगे।

भारत में बहुत व्यक्ति ऐसे भी है जो आज भी इंटरनेट का इस्तेमाल नहीं करते है तो सिर्फ उन लोगों के लिए नेफ्ट से ऑनलाइन आसान सुविधा का कोई लाभ नहीं है।

एक यह रिस्की काम है जोकि इंटरनेट तो चलाते है पर ऑनलाइन पेमेंट के तरीके से डरते है कि कही हमारा पैसे डूब न जाए या फिर बहुत से लोग अकाउंट एक्सेस न कर ले, इस डर की वजह से कुछ लोग ऑनलाइन पेमेंट से भी डरते हैं.


नेफ्ट को सुविधा देने वाले कौन कौन से बैंक है?

जो बैंक नेफ्ट की सुविधा देते है उन बैंक के सारे नाम नीचे दिये है…

  1. SBI State Bank of India
  2. ICICI Bank LTD
  3. HDFC
  4. Axis Bank
  5. Bank of Baroda
  6. Syndicate Bank
  7. Dena Bank
  8. Central Bank of India
  9. Punjab National Bank PNB
  10. Union Bank of India

यह सारे बैंक के नाम है जो नेफ्ट की सुविधा देती है.

निष्कर्ष

आपको एनईएफटी क्या है (What is NEFT in Hindi) की पूरी जानकारी देने के बाद समझ आ गया होगा की नेफ्ट क्या है, इसके क्या फायदे और नुकसान है.

नेफ्ट को कौन से बैंक सुविधा देते हैं यह सब जानकारी आपको मिल गयी है, इससे अब आपको पता चल गया होगा कि नेफ्ट के द्वारा पैसों को कैसे एक खाता धारक से दूसरे खाता धारक के खाते में पैसे कैसे भेजे जाते है.

नेफ्ट कैसे काम करता है, NEFT की टाइम के बारे में सारी जानकारी आपको पता चल गई है कि यह कितने टाइम से कब तक काम करता है।

इस लेख में हमने यह भी जाना की NEFT से कितने पैसों पर कितना चार्ज है ताकि जब आप पैसे भेजे तो आपको इसके बारे में पता चले।

लेकिन ऊपर पॉइंट में आपको बताया गया है की इसका चार्ज बदलता रहता है इसलिए आप अपने ब्रांच से जानकारी जरूर ले।

अगर आपको NEFT in Hindi से संबंधित कुछ भी पूछना है तो आप कमेंट के माध्यम से अपना प्रश्न पूछ सकते हैं।

National Electronic Funds Transfer (NEFT)
NEFT क्या है ? अगर नहीं पता तो इसे पढ़े

National Electronic Funds Transfer is an electronic funds transfer system maintained by the Reserve Bank of India. Started in November 2005, the setup was established and maintained by Institute for Development and Research in Banking Technology.

Editor's Rating:
5

About the author

Hindi FAQ Team

Hindi FAQ में आप सभी का हार्दिक स्वागत है| यह एक हिंदी टेक ब्लॉग है जहाँ पर आपको टेक के बारे में बताया जाएगा| अगर आपको किसी भी विषय के बारे में जानना है तो आप कमेंट के माध्यम से अपना प्रशन पूछ सकते हो|

Leave a Comment