Speech Essay

गणतंत्र दिवस पर हिंदी भाषण : 26 जनवरी 2020

Indian-Flag-HG-Images-Download
Written by Hindi FAQ Team

गणतंत्र दिवस के उपलक्ष में सभी छात्रों और अध्यापकों के लिए हमने Happy Republic Day Speech in Hindi का शानदार भाषण लिखा है, जिसको आप आने वाले 26 जनवरी 2020 में इस्तेमाल कर सको.

गणतंत्र दिवस पर विद्यार्थियों के लिए बहुत परेशानी होती है कि वह स्कूल में निबंध कैसे लिखे, कहा से कुछ अच्छा और अलग गणतंत्र दिवस पर निबंध कैसे लिखे तो उसके लिए हमने आपके लिए ये लेख लिखा है.

क्या आपको पता है कि हम भारतीय गणतंत्र दिवस क्यों मनाते है इसका क्या महत्व है?

गणतंत्र दिवस क्यों मनाया जाता है?

Why do we celebrate Republic Day in Hindi 2020?

यह दिन भारत में एक बहुत बड़ा दिन होता है इस दिन भारत के हर नागरिक में एक नया जोश होता है.

रिपब्लिक डे मनाते समय हर नागरिक के दिल में देश भक्ति की भावना उत्पन्न होती है। इस दिन भारत मे गणतंत्र और संविधान की स्थापना हुई थी इस कारण से भी यह दिन हम सबके लिए भी और ज्यादा महत्वपूर्ण है.

इस दिन को मनाने के लिए बहुत तरह के कार्यक्रम होते है जैसे:

विद्यार्थी इस पर्व को नाच, गाने स्पीच देकर ड्रामा करके और भी बहुत प्रकार के कार्यक्रम करते है, प्रतियोगिताओं का कार्यक्रम और सरकारी कर्मचारी भी बड़ी ही धूम धाम से इसे मनाते है.

हमारे देश की आर्मी के लिए ये सबसे बड़ा त्योहार होता है उनके लिए ये दिन बहुत बड़ा दिन होता है जो सीमा पर हमेशा हमारी भारत माता की रक्षा करते है उन सभी Army Soldier को हमारी तरफ से जय हिन्द…!

भारतीय सैनिकों की परेड, तोपों का कार्यक्रम, बहुत ही उत्साह से मनाया जाता है। इस कारण ही हमने आपके लिए 26 जनवरी पर निबंध और भाषण लिखा है.

हमने 26 जनवरी पर भाषण बड़े ही सरल शब्दों में आपके लिए लिखा गया है जिससे आपको अब कोई परेशानी नही होगी की गणतंत्र दिवस पर भाषण कहा से लिखे.

तो चलिए, अब हम Republic Day Hindi Speech को पढ़ना शुरू करते है। भाषण के साथ ही आपको गणतंत्र दिवस का इतिहास भी पता चल जाएगा.


Related searches…

Republic Day Speech in Telugu, Republic Day Speech in English For Teachers, Speech on Republic Day in English, Republic Day Speech in Tamil, Speech For Republic Day, Republic Day Speech in Kannada, Republic Day Speech in Kannada PDF, Speech on Republic Day by Principal.


Best Republic Day Speech in Hindi 2020 For Students

Republic Day Speech in Hindi

26 जनवरी गणतंत्र दिवस भाषण

  • गणतंत्र दिवस भाषण (100 शब्द)

भारत मे गणतंत्र दिवस राष्ट्रीय अवकाश के रूप में मनाया जाता है.

इस दिवस पर पूरे भारत वर्ष में बहुत ही धूम-धाम होती है और प्रत्येक नागरिक बड़ी ही धूम-धाम से उत्साह के साथ अपनी कलाओं का प्रदर्शन करके मनाते है क्योंकि 26 जनवरी 1950 यही वो दिन था जब हमारे भारत में संविधान लागू हुआ था.

भारत का गणतंत्र दिवस का दिन भारत वर्ष के लिए स्वर्ण दिन था, इस दिन हमारा भारत एक पूर्ण लोकतान्त्रिक गणराज्य “भारत” बना.

भारतीय सैनिकों का परेड प्रदर्शन बहुत ही शानदार होता है। हमारे भारत की विशाल सेना इस दिन पर (जल, थल, और नभ) तीनों सलामी देती है.

Short Speech on Republic Day in Hindi For Students

Short Speech on Republic Day in Hindi For Students

2020 Republic Day short Speech in Hindi

  • Republic Day Essay in Hindi (150 शब्द)

समय बहुत नजदीक था जब हमारे भारत में संविधान लागू होने जा रहा था आखिर वो दिन आ ही गया था.

26 जनवरी 1950 संविधान लागू होने का दिवस जब हम इसे गणतंत्र दिवस के रूप में मनाते है.

हमारे संविधान में खास बात ये है कि ये एक विशाल और लिखित संविधान है…

हमारे संविधान सभा की रचना हेतु संविधान का विचार सर्व प्रथम प्रस्तुत करने वाले स्वराज पार्टी थी.

ये सन् 1924 में स्वराज पार्टी ने विचार प्रस्तुत किया जिसका परिणाम हमारे देश का लिखित और पूर्ण संविधान है.

संविधान सभा के समिति के अध्यक्ष पंडित जवाहरलाल नेहरू थे. इस विशाल और लिखित संविधान को बनाने में 2 वर्ष 11 माह 18 दिन का समय लगा और 26 जनवरी 1950 को लागू हुआ.

भारत का संविधान भारत के राज्यों के संघ के रूप में वर्णित करता है.

जब संविधान बनकर तैयार हो रहा था तब संविधान सभा के सभी निर्णय सबकी सहमति और समायोजन के आधार पर लिए गए थे.


People also ask for…

Republic Day Speech For Kids in Hindi, Republic Day Speech in Hindi PDF, Hindi Speech on Republic Day, Gantantra Diwas 2020 Speech in Hindi, Gantantra Diwas Speech in Hindi, Speech on Gantantra Diwas in Hindi, President Speech on Republic Day in Hindi.


Best Republic Day 26 January Speech in Hindi For Students

Best Republic Day 26 January Speech in Hindi For Students

Republic day Speech for teachers and students in Hindi

  • Speech on Republic Day 2020 in Hindi (200 Words)

26 जनवरी 1950 को जब संविधान लागू हुआ तब हमारा देश एक गणतंत्र भारत बना अथवा भारत में एक नया उदय हुआ.

संविधान लागू होते ही एक नए कानून और रणनीति के साथ संविधान तैयार था। प्रत्येक नागरिक संविधान के सभी निर्णयों का पालन करता है और जरूरत पड़ने पर वह इसकी सुरक्षा करेगा.

हर व्यक्ति को अपने देश की सुरक्षा करने के लिए जब भी जरूरत पड़ती है वह सामने आता है और हमेशा तैयार रहता है.

1922 में महात्मा गांधी जी ने संविधान सभा और संविधान निर्माण की मांग प्रबलतम तरीके से की और कहा तभी भारत को स्वाधीनता मिलेगी.

भारतीय संविधान का निर्माण भारतीय लोगों की इच्छाओं के अनुकूल किया गया। सभी के सहयोग और सहमति से इसे मनाया गया.

इसके अंतर्गत ब्रिटिश भारत का पहला लिखित संविधान बनाया गया जिसमे मौलिक अधिकारों अल्पसंख्यकों के अधिकारों तथा अखिल भारतीय संघ एवं डोमिनियन स्टेट के प्रावधान रखे गए.

इसका सबसे प्रबलतम विरोध मुस्लिम लीग और रियासतों के राजाओं द्वारा किया गया परंतु इन विरोधों के बाद भी भारत का लिखित एवं विशाल संविधान पूर्णतः तैयार हुआ.

1976 में 42वे संविधान संशोधन अधिनियम द्वारा इसमे संशोधन किया.

संविधान में आने वाले अनुच्छेद की संख्या 465 है और संविधान के अध्यायों की संख्या 22 है जिसके अंदर 12 अनुसूचियां है साथ ही साथ भीमराव अंबेडकर ने इस संविधान के भाग 3 को सबसे अधिक आलोकित किया है.

Republic Day Speech 2020 in Hindi For School Students

Essay on Republic Day in Hindi

Republic Day Par Bhashan Hindi Mein

  • Essay on Republic Day in Hindi (250 Words)

गणतंत्र दिवस मनाने का महत्व इसलिए भी खास है क्योंकि इस दिन हमारा पूर्ण संविधान बनकर 26 जनवरी 1950 को लागू हुआ.

ये दिन हमारे जीवन में एक नया सवेरा लाया क्योंकि भले ही हमारा भारत 15 अगस्त 1947 को आजाद हुआ परंतु हमारा देश पूर्णत: 26 जनवरी 1950 के भारत सरकार के अधिनियम एक्ट 1935 को हटाकर भारत के नए संविधान को लागू किया गया.

संविधान जीवन का वह मार्ग है जिसे राज्य ने अपने लिए अपनाया है। संविधान सभा द्वारा निर्मित संविधान स्वतंत्र राष्ट्र का प्रमुख लक्षण है.

गणतंत्र दिवस के साथ साथ दो और राष्ट्रीय त्योहार है:

  1. स्वतंत्रता दिवस
  2. गांधी जयंती

लेकिन इसमें गणतंत्र दिवस को अलग महत्व दिया गया है.

गणतंत्र दिवस के दिन पूरे भारत देश में सभी जगहों पर राष्ट्रीय ध्वज और राष्ट्रीय गीत के उपलक्ष में मनाया जाता है और सभी स्कूल और महाविद्यालय में विद्यार्थी पूर्ण रूप से भाग लेकर आयोजन करते है.

गणतंत्र दिवस पर सभी अध्यापक विद्यार्थियों के साथ मिलकर हमारे देश के महापुरुषों, वीर, योद्धाओं, वीरांगनाओं, देश के शहीदों को नमन करते है.

हमारे इस गणतंत्र दिवस पर प्रत्येक राज्य से अपनी संस्कृति और परंपरा का प्रदर्शन करते है। जगह जगह अपने तरीकों से इसे मनाते है और सब गले मिलते है, जय हिन्द बोलते है। सब एक दूसरे को मिठाई खिलाते हैं, स्कूल में विद्यार्थियों को बुंदिया और लड्डू बांटे जाते है.

प्रत्येक राज्य में तिरंगा फहराया जाता है, नागरिक अपनी देश भक्ति को व्यक्त करने के लिए अपने चेहरे पर तिरंगा बना लेते है, तिरंगे के कपड़े पहनते है इसलिए गणतंत्र दिवस हमारे लिए बहुत खास होता है.

Short Speech on 26 January in Hindi For Teacher

Short Speech on 26 January in Hindi For Teacher

71th Republic Day Speech in Hindi, 2019

  • गणतंत्र दिवस पर भाषण (300 शब्द)

1950 को हर वर्ष हम गणतंत्र दिवस का इंतजार करते है। 26 जनवरी की तैयारी हम एक महीने पहले से ही तैयार कर देते है.

इस दिन विमानों द्वारा आसमान मे तीन रंग (केसरिया, सफ़ेद और हरा) उड़ाए जाते है जो हमारे तिरंगे का प्रतीक होता है तथा फूलों की भी इसी प्रकार से वर्षा होती है जो तिरंगे को दर्शाता है.

जब विद्यार्थी विद्यालय पहुँचते है तो उन्हें सबसे पहले एक साथ अध्यापक और सारे विद्यार्थियों को एक साथ तिरंगे के सामने सर नीचे करके राष्ट्रीय गीत (जन-गण-मन) राष्ट्रगान गाया जाता है.

हमारे राष्ट्रीय ध्वज को खोलते ही उसमे से फूलों की वर्षा होती है और प्रत्येक नागरिक तिरंगे को सलाम करता है.

गणतंत्र दिवस का त्योहार हमारा सबसे बड़ा गौरव है…

स्कूल में विद्यार्थी आयोजित समारोह में सैनिकों, भगत सिंह, महात्मा गांधी, सुभाष चन्द्र बॉस और भी अन्य भूमिका निभाते है | कोई अपने नृत्य से लुभाता है.

अनेक किरदार अपनी भूमिका निभा कर विद्यार्थी इस दिन को गौरव पूर्ण बनाता है.

इस प्रकार भारतीय संविधान को पूर्णत: बनाने में कुल 2 वर्ष, 11 माह, 18 दिन का समय लगा.

संविधान मे नागरिकता निर्वाचन और अन्तरिम संसद से संबंधित संवैधानिक और अस्थायी उपबंधों से संबंधित संविधान के अनुच्छेद 5, 6, 7, 8, 9, 60, 324, 366, 367, 372, 380, 388, 391, 392, 393 आदि तत्काल प्रभाव से 26 जनवरी 1949 से लागू हो गए.

हर नागरिक संविधान के प्रत्येक कानूनों का पूर्णतः पालन करता है। इन सब अनुच्छेदों को 26 जनवरी 1949 को भारत में लागू होते ही शेष बचे संविधान को अपने पूर्ण प्रभाव में 26 जनवरी आया। यह तिथि भारत के प्रथम गणतंत्र दिवस के रूप मे मनाई जाती है.

इस तिथि को संविधान लागू करने का दिन इसलिए चुना गया क्योंकि 26 जनवरी 1930 को भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के लाहौर अधिवेशन में पूर्ण स्वराज की मांग की गयी थी। इस कारण से गणतंत्र दिवस के रूप मे प्रत्येक भारतीय को अपनी आजादी की एक बहुत बड़ी सौगात मिली.

Happy Republic Day Speech in Hindi For Teachers 2020
Happy Republic Day Speech in Hindi For Teachers

Speech For 26 January in Hindi

  • 26 जनवरी गणतंत्र दिवस का महत्व (400 शब्द)

गणतंत्र दिवस का क्या महत्व है और इसे क्यों मनाते है पूर्ण विवरण ये है:

26 जनवरी 1930 को कांग्रेस की पूर्ण स्वराज की मांग के बाद स्वराज दल ने 1934 मे संविधान सभा की मांग की, जिसका दिसंबर 1936 के कांग्रेस अधिवेशन में पुरजोर समर्थन किया.

दिसंबर 1936 में लखनऊ कांग्रेस अधिवेशन के दौरान संविधान सभा के अर्थ एवं महत्व की व्याख्या की गयी और 1937 एवं 1938 में संविधान सभा की मांग को दोहरा गया। जिस कारण संविधान को बनाने का निर्णय लिया और संविधान सभा का गठन तीन चरणों – कैबिनेट मिशन योजना, 3 जून 1947 की विभाग योजना तथा देशी रियासतों के पुनर्गठन के अनुसार पूरा हुआ.

कैबिनेट मिशन योजना के अनुसार संविधान सभा का गठन करने के उद्देश्य से 1946 से अप्रत्यक्ष रूप से चुनाव कराए गए.

11 दिसंबर, 1947 को सर्वसम्मति से डॉ राजेंद्र प्रसाद को संविधान सभा का स्थायी सभापति चुना गया.

इस पूर्ण संविधान को बनाने में 9, दिसंबर 1946 से 26 नवंबर, 1949 तक संविधान सभा को अपना करी पूर्ण करने में 2 वर्ष, 11 माह, 18 दिन का समय लगा.

डॉ भीमराव अंबेडकर को भारतीय संविधान का जनक माना जाता हैं। वे प्रारूप समिति के सभापति भी थे.

संविधान सभा में महात्मा गांधी और जिन्ना को छोड़कर प्रमुख भारतीय लोग शामिल थे.

सभा में महिलाओं को भी प्रतिनिधित्व प्राप्त था। श्रीमती हंसा मेहता, श्रीमती रेणुका राय, श्रीमती सरोजिनी नायडू तथा दुर्गबाई देशमुख संविधान सभा की प्रमुख सदस्या थी.

संविधान सभा भारत के विशाल बहुमत की वास्तविक सभा थी। हमारे संविधान सभा में शामिल होने वाले महान नागरिक और योग्य, अनुभवी व्यक्तियों पर गर्व है जो हमारे इस विशाल संविधान सभा में शामिल थे.

भारतीय संविधान सभा का पहला अधिवेशन 9 दिसंबर 1946 को हुआ जिसकी अध्यक्ष डॉ सच्चिदानंद सिन्हा ने की…

डॉ राजेंद्र प्रसाद को संविधान सभा का स्थायी अध्यक्ष चुना गया जो की अंत तक अध्यक्ष बने रहे.

डॉ राजेंद्र प्रसाद आगे चलकर स्वतंत्र भारत के पहले राष्ट्रपति बने तथा उन्ही के हस्ताक्षर से 26 जनवरी 1950, को भारतीय संविधान देश में लागू हुआ और स्वतंत्र भारत में नए उदय के साथ ही नए कानून और व्यवस्था का उदय हुआ.

यही दिन था की जिसे हम आज की तारीख में गणतंत्र दिवस के रूप में अपनी स्वतंत्रता को बड़ी हर्षोल्लास के साथ इस दिन को मनाते है.

भारत बेशक 15 अगस्त 1947 को आजाद हुआ परंतु गणतंत्र दिवस भी हमारा पूर्ण स्वतंत्रता का दिन है.

अब आपको पता चल गया होगा की 26 जनवरी का महत्व क्या है और यह भी कि हम 26 जनवरी क्यों मनाते है.

इस दिन भारतीय सेनाओं की परेड बहुत ही महत्व रखती है जिसे देखने के लिए खास मेहमान मंत्रियों का आना, और देशवासियों को बहुत बड़ी मात्रा मे भीड़ इकट्ठा होती है.

इस दिन पर सभी सेनाएं जैसे एनसीसी (NCC), Air Force, बीएसएफ, जल सेना, थल सेना, वायु सेना, Navy, NDA Force, अन्य और भी सेना भी इस दिन पर परेड, फायरिंग करते है जिसके द्वारा भारत की राजनीति, कूटनीति का प्रदर्शन भी होता है.

इस दिन पर यानि गणतंत्र दिवस पर विदेशी मेहमान हमारे भारत में आमंत्रित किए जाते है जिससे हमारे देश के संबंध विदेशों से अच्छे बने होते है.

इस आयोजन पर भारतवासी ये दिखा देते है कि वह अपने देश की सुरक्षा करने में सक्षम है.

यह दिन हमारा एक एतिहासिक दिन होता है| भारत में होने वाले सभी कार्यक्रम विद्यार्थियों द्वारा आयोजन, झांकियों का अलग-अलग रूप में निकालना, भारतीय नागरिकों का अपने आप को तिरंगे झंडे में ढालना, संस्कृति और परंपरा का प्रदर्शन करना ये सब गणतंत्र दिवस को और भी रोमांचित बनाता है.

यही सब नागरिकों का प्रेम है जो इस ऐतिहासिक दिन को परिपूर्ण करता है। इसलिए 26 जनवरी 1950 (गणतंत्र दिवस) एक ऐतिहासिक दिन हैं.

गणतंत्र दिवस हम सब भारतीय नागरिकों के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण दिन होता है…!

निष्कर्ष

गणतंत्र दिवस, स्वतंत्र दिवस और गांधी जयंती भारत के राष्ट्रीय त्योहार है।

गणतंत्र दिवस के दिन हमारे देश का संविधान लागू हुआ था और स्वतंत्र दिवस के दिन भारत देश आजाद हुआ था.

इस लेख में मैंने Republic Day Speech in Hindi का बेहतरीन कलेक्शन अपडेट करा है जिसको छात्र और अध्यापक अपने स्कूल और कॉलेज में भाषण के रूप में इस्तेमाल कर सकते हैं.

अगर आपको Speech of 26 January in Hindi से सम्बंधित किसी भी तरह का कोई प्रश्न या आप अपने विचार हमारे साथ साझा करना चाहते हो तो नीचे दिए गए कमेंट बॉक्स का इस्तेमाल करके अपने अनमोल विचार शेयर कर सकते हो.

Republic Day Speech in Hindi का लेख अब यही पर समाप्त होता है, अगर आपको 26 जनवरी पर भाषण अच्छा लगा हो तो इसे अन्य देशभक्तों के साथ सोशल मीडिया पर शेयर करना ना भूले.

“धन्यवाद”

“जय हिंदी, जय भारत, भारत माता की जय, वन्दे मातरम्”

भारतीय त्योहार:

Tags: हैप्पी रिपब्लिक डे स्पीच इन हिंदी 2020, 71वाँ रिपब्लिक डे भाषण, 26 जनवरी पर भाषण, गणतंत्र दिवस का भाषण, छात्रों के लिए गणतंत्र दिवस पर भाषण हिंदी में, स्टूडेंट्स के लिए रिपब्लिक डे पर आसान भाषण, शिक्षकों और विद्यार्थियों के लिए गणतंत्र दिवस पर भाषण।

Happy Republic Day
गणतंत्र दिवस पर हिंदी भाषण : 26 जनवरी 2020

Republic Day honours the date on which the Constitution of India came into effect on 26 January 1950 replacing the Government of India Act as the governing document of India.

Editor's Rating:
5
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

About the author

Hindi FAQ Team

Hindi FAQ में आप सभी का हार्दिक स्वागत है| यह एक हिंदी टेक ब्लॉग है जहाँ पर आपको टेक के बारे में बताया जाएगा| अगर आपको किसी भी विषय के बारे में जानना है तो आप कमेंट के माध्यम से अपना प्रशन पूछ सकते हो|

Leave a Comment